ये है ‘नर्क का दरवाजा’ 47 साल से हो रहा कुछ ऐसा...

Rochak News 10-07-2019 11:40:32
This is Hells door something like this happening for 47 years

नई दिल्ली। आज हम आपको एक ऐसा मामला बताने जा रहे है जिसे सुनकर आप दंग रह जाएंगे। दरअसल, आज हम आपको एक ऐसे गड्ढे के बारे में बताने जा रहे है जिसे 'मौत का दरवाजा' बोला जाता है। इस गड्ढे की चौंकाने वाली बात तो ये है कि इसमें बीते 47 साल से लगातार आग जल रही है।

fdsff

बता दें कि, ये जगह अश्गाबात से 260 किलोमीटर दूर काराकुम रेगिस्तान के दरवेज ग्राम में उपस्थित है। जमीन के भीतर मौजूद मिथेन गैस के चलते 1971 के पश्चात से लगातार ये आग लगातार जल रही है। 

साल, 1971 में सोवियत संघ के वैज्ञानिकों ने मिथेन गैस को एकत्रित करने हेतु यहां ड्रिलिंग की थी। एक दिन यहां विस्फोट हुआ तत्पश्चात ‘नर्क के दरवाजे’ के नाम से प्रसिद्ध ये गड्ढा गैस क्रेटर बना।

वैज्ञानिकों ने हादसे के पश्चात मिथेन गैस को वायुमंडल में फैलने से रोकने हेतु यहां आग लगा दी। उन्हें लगा था कि ये आग एक 2 सप्ताह के पश्चात बंद हो जाएगी, किन्तु ये आग आज तक लगातार जल रही है। जिस गड्ढे में आग जल रही है वो 229 फीट चौड़ा है एवं करीबन 65 फीट गहरा है। 

fdsff

आज यह जगह प्रसिद्ध टूरिस्ट प्वाइंट बन चुका है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस गड़्ढे को देखने हेतु यहां पर प्रत्येक वर्ष लाखों लोग आते हैं। साथ ही ये  जगह अब एक टूरिस्ट प्लेस में बदल चुकी हैं।

ashgabat door of death burning fire mystery scientist
Sanjeevni Today News

Similar Post You May Like