इस कब्र को जूते-चप्पल मारकर लोग करते है तीर्थयात्रा!

Rochak News 06-03-2019 16:33:21
People do this tomb by slapping shoes and pilgrimage

नई दिल्ली। आज हम आपको एक ऐसी कब्र के बारे में बताएंगे जिसे जानकर आप चौंक जाएंगे। हम जिस कब्र की बात कर रहे है वो ‘चुगलखोर के मकबरा’ है जो उत्तर प्रदेश के इटावा में मौजूद है। जानकारी के मुताबिक, ये मकबरा इटावा जिले के मुख्यालय से लगभग 3 किलोमीटर की दूरी पर मौजूद है।

ytutu

बताते है कि इस रास्ते पर सफर के वक्त भूतों का साया होता है। उनसे सुरक्षा हेतु इस 500 साल पुराने मकबरे पर पूजा की जाती है। यहां के युवक का बताना है कि खुद को और अपने परिवार को भूतों से बचाने हेतु भोलू सईद की कब्र पर जूते मारे जाते हैं।

प्राचीन मान्यताओं के मुताबिक, इटावा के बादशाह ने अटेरी के राजा के विरुद्ध युद्ध छेड़ दिया। बाद बादशाह को मालूम हुआ कि इस युद्ध हेतु उसका दरबारी भोलू सैय्यद जिम्मेदार था। इससे नाराज बादशाह ने ऐलान किया कि सैय्यद को इस धोखेबाजी हेतु तब तक जूतों से पीटा जाए जब तक कि उसकी मौत न हो जाए। 

ytutu

सैय्यद की मृत्यु के पश्चात से ही उसकी कब्र पर जूते मारने की प्रथा चली आ रही है। यहां के लोगों की मान्यता है कि इटावा-बरेली रास्ते पर अपनी तथा परिवार की सुरक्षित यात्रा हेतु सैय्यद की कब्र पर कम से कम 5 जूते मारना बहुत आवश्यक है। 

उत्तर प्रदेश इटावा ‘चुगलखोर के मकबरा’ जूते-चप्पल तीर्थयात्रा uttar pradesh etawah tomb of chaglakhor footwear pilgrimage
Sanjeevni Today News

Similar Post You May Like